Aditya L1 mission हुआ लॉन्च, जगह - जगह पूजा , कब और कैसे पहुंचेगा सूर्य तक  

  हमारी अंतरिक्ष एजेंसी ( ISRO ) तरक्की करती जा रही है। इस बार आज 2 sept ko Aditya L1 mission launch हो चुका है। इस से पहले भी हम चंद्रयान की सफलता देख चुके है। और अब Aditya L1 launch कर दिया गया है।

Aditya L1  को अपनी दूरी पूरी करने में चार महीने का समय लगेगा। हम कह सकते है की 125 दिन का समय लग जायेगा। उनके मुताबिक Aditya L1 को पृथ्वी और सूर्य के बीच लैंग्रेंज प्वाइंट 1 (L1) में रखा जाने वाला है। सभी तरह से प्लान के मुताबिक इस लॉन्च कर दिया गया है। 

Aditya L1 को Lagrange Point पर रखा जाएगा। Lagrange Point को वैज्ञानिक जोसेफी-लुई लैरेंज ने खोजा था। और इन्होने खोजा इसलिए इस प्वाइंट का नाम Lagrange Point रख दिया गया है। ऐसा कहना है की इस प्वाइंट पर यह safe रहेगा। इस प्वाइंट पर यह इन दोनो के बीच होने वाले गुरुत्वाकर्षण से बचा रहेगा। जिस वजह से आसानी से यह अपना काम करने में सफल होगा।

 Aditya L1 mission एक सूर्य मिशन है। यह इसरो का पहला सूर्य मिशन है। सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा से Aditya L1 को रवाना कर दिया गया है। इसे 2 सितंबर को 11:50 पर इसकी लॉन्चिंग की गई है। Aditya L1 की लॉन्चिंग PSLV रॉकेट के द्वारा की गई है। सभी इसे लेकर बहुत उत्साहित है। 

 इसके लॉन्च होने के बाद से पूजा पाठ भी शुरू हो गए है। सभी इसे मंगल कामना कर रहे है। सभी को प्रार्थना है की जिस मिशन के लिए इस भेजा जा रहा वो सफल हो जाए। किसी तरह की कोई प्रोब्लम न हो । ISRO के Aditya L1 सूर्य मिशन की सफल लैंडिंग पर इसरो के पूर्व अध्यक्ष जी माधवन नायर ने तारीफ की ओर बधाई भी दी है।